हाथरस/सासनी: खेतों में घुसा नाले का पानी, सैकडों बीघा फसल हुई जलमग्न

रिपोर्ट- यतेन्द्र सेंगर

हाथरस/सासनी। अलीगढ से चलकर हाथरस की ओर जाने वाले गंदे नाले की पटरी कट जाने के कारण नाले का पानी गांव सिंघर्र में घुस गया। जिससे सैकडों बीघा फसल जलमग्न हो गई। ग्राम प्रधानपति ने इसकी शिकायत उच्चाधिकारियों से की है।

बुधवार को एसडीएम विजय शर्मा को लिखे शिकायती पत्र में ग्राम प्रधान रजनी तोमर के पति कुंवर कन्हैयां सिंह तोमर ने कहा है कि अलीगढ से चलकर हाथरस जा रहे गंदे नाले का पानी नाले का पुल न होने के कारण गांव सिंघर्र में आ गया है। जिससे गांव के साथ किसानों की सैकडों बीघा फसल जलमग्न हो गई है। इस वर्ष किसानों ने बाजरा, धान, तथा पशुओं का चारा खेतों में बोया था। मगर कृषिभूमि जलमग्न होने के कारण किसानों का भारी नुकसान हुआ है। इसके अलावा सांदलपुर में भी पानी घुस गया है। तथा इस पानी ने जसराना एवं रूदायन की ओर भी कूच कर दिया है। श्री तोमर ने कहा है कि यदि पानी को न रोका गया तो शीघ्र ही क्षेत्र में बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो जाएगी। वहीं आक्रोशित ग्रामीणों ने गांव सिंघर्र में जमकर प्रदर्शन एवं नारेबाजी करते हुए समस्या के समाधान की मांग की है। ग्राम प्रधान पति सिंघर्र ने एसडीएम को पत्र में सत्यप्रकाश, सुभाष चंद्र, हरप्रसाद, नागेन्द्र शर्मा, हरिकेश चैहान, सुरेश चंद्र शर्मा, रवेन्द्र तोमर, बाबूलाल, यशपाल सिंह, सत्यपाल सिंह, मेघ सिंह, आदि किसानों की फसल जलमग्न होना बताई है। वहीं प्रदर्शन करने वालों में प्रवेश कुमार तोमर, बृजेश दीक्षित, राजकुमार, दीपक विशाल, राजेश पाराशर, बाला दीक्षित, गब्बर गौड, सचिन कुूमार, रमेश चंद, मनोज तोमर, आदि मौजूद थे।

Check Also

हाथरस/सिकंदराराव: श्रीमद् भागवत कथा के तृतीय दिवस पर विजय यादव द्वारा पूजा अर्चना कर किया गया शुभारंभ

🔊 Listen to this रिपोर्ट- रूपकिशोर शर्मा हाथरस/सिकंदराराव। आज गौरी शंकर हिंदू इंटर कॉलेज काली …

Samachar Express